Play Bazaar और इससे Satta Matka का Relation क्या है.

भारत में सट्टा बहुत पहले से खेला जाता है | लेकिन जैसे जैसे वक़्त बदला सट्टा और उसके खेलने के तरीके भी बदलते गए | आज जमाना इंटरनेट का है,तो ज्यादातर लोग सट्टा ऑनलाइन खेलना चाहते है | ऑनलाइन खेलने का दूसरा सबसे बड़ा कारण है पुलिस इत्यादि की नजरो से बचे रहना | भारत में सट्टा पूरी तरह से बैन है ,लेकिन online satta को बंद करना इतना आसान नहीं है | बहुत पहले से चल रहे सट्टे जैसे boss matka, golden matka, Kalyan matka ,Time Bazar, Milan Day, Rajdhani Day, Kalyan Milan Night, Rajdhani Night, Kalyan NIght इत्यादि सट्टे को सभी जानते है | लेकिन 2017 से सट्टा किंग रमेश चौरसिया और उसके बेटे ने Play बाजार नमक सट्टे की शुरुआत की, इसमें बहुत सारे बदलाव करते हुए सुरक्षा का भी खासतौर ध्यान रखा गया है | रमेश चौरसिया ने Gameking India Pvt. Ltd नामक कंपनी बनाई,और play bazaar नामक सट्टे को दुनिया के 15 देश के साथ साथ भारत के 7 राज्यों में ऑनलाइन सट्टा शुरू कर दिए | इस सट्टे को लोगो ने बहुत ज्यादा पसंद करा | रमेश चौरसिया के बेटे अचल चौरसिया यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका और दुबई में ऑनलाइन सट्टे का नेटवर्क चलाता है, वो वही से बैठकर भारत में भी सट्टे का संचालन करता है.

यह भी पढ़ें:


सट्टा किंग रमेश चौरसिया कौन है?

ऊपर आपने सट्टा किंग रमेश चौरसिया का नाम पड़ा चलिए हम आपको उसके बारे में बताते है | रमेश चौरसिया अपने गॉव में एक छोटा सा स्कूल चलाता था | 1961 में उसने स्कूल के बच्चो को Game खिलाना शुरू किया, शुरुआत में बच्चे काफी कम थे लेकिन धीरे धीरे बच्चो की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ने लगी | फिर रमेश गेम खिलाने के पैसे लेने लगा और उसने देखा की बच्चे पैसे देकर भी गेम खेलने को तैयार है, बस उसी समय से रमेश ने सट्टा खिलाने का खेल शुरू कर दिया था | उसके बाद काफी मेहनत के बाद उसने एक सॉफ्टवेयर बनाकर सट्टा शुरू करा फिर उसने 1996 में चौरसिया लीसिंग एंड फाइनेंस प्रा. लि. नामक कंपनी खोल कर सट्टा शुरू कर दिया, देखते ही देखते रमेश करोड़पति बन गया उसकी कंपनी ने 210 करोड़ से ऊपर की ट्रांजैक्शन कर ली थी | बस फिर उसने पीछे मुड़कर कभी नहीं देखा मुंबई, दिल्ली, गुजरात जैसे अन्य कई राज्यों में अपने बिज़नेस को जमाया और उसके बाद उसने विदेशो में अपने इस बिज़नेस को जमा दिया | इस बिज़नेस में अब उसका बेटा अचल चौरसिया और आरती चौरसिया उसके साथ बिज़नेस चलने में उसकी मदद करते है | play bazaar को मार्किट में लाने का दिमाग रमेश के बेटे का ही है, वो इसे दुबई और कई और देशो में चलाता है | सूत्रों की माने तो रमेश की कंपनी में डेली 5 करोड़ से अधिक का सट्टा खेला जाता है, और इसमें अकेले रमेश ही नहीं बहुत सारे बड़े बिज़नेस मैन और मंत्री भी शामिल है, जिनकी बदौलत ही रमेश का नया सट्टा play bazar बहुत ही जल्दी और ज्यादा पॉपुलर हो चूका है.

Popular Posts

Final Ank कैसे निकालते Satta Matka में और क्या होता है

Kalyan matka, Panel Chart और Final क्या है

Satta mataka 143 क्या है और कब शुरू हुआ

Kalyan panel chart